Pages

हिंदी चेतना - अंक अक्टूबर २०११ - डॉ प्रेम जनमेजय विशेषांक



हिंदी चेतना - अंक अक्टूबर २०११ - डॉ प्रेम जनमेजय विशेषांक (कृपया इस लिंक पर क्लिक कर के पत्रिका डाउनलोड करें)

हिंदी व्यंग्य के धारदार हस्ताक्षर को समर्पित इस अंक में पढ़िए पंकज सुबीर, मनोज श्रीवास्तव, प्रदीप पन्त, हरीश नवल, सूरज प्रकाश, अशोक चक्रधर, मनोहर पुरी, सूर्यबाला, तरसेम गुजराल, यज्ञ शर्मा, नरेंद्र कोहली, उषा राजे सक्सेना, अनिल जोशी, गिरीश पंकज, ज्ञान चतुर्वेदी, महेश दर्पण, अजय अनुरागी, प्रताप सहगल, हरि शंकर आदेश, अविनाश वाचस्पति, राधेश्याम तिवारी, अजय नावरिया, वेदप्रकाश अमिताभ, लालित्य ललित तथा अमित कुमार सिंह के संस्मरण तथा आलेख. इसके अलावा और भी...

4 टिप्पणियाँ:

Navin C. Chaturvedi said...

लिंक शेयर करने के लिए बहुत बहुत आभार

नीरज गोस्वामी said...

इस अंक की जितनी तारीफ़ की जाये कम है...पूरी सामग्री संग्रहनीय है...आप बधाई के पात्र हैं.

नीरज

ओम पुरोहित'कागद' said...

हिंदी चेतना का अंक अक्टूबर २०११
[- डॉ प्रेम जनमेजय विशेषांक ]
बहुत शानदार एवम जानदार है !डॉ प्रेम जनमेजय को बधाई !
इस अंक में पंकज सुबीर, मनोज श्रीवास्तव, प्रदीप पन्त, हरीश नवल, सूरज प्रकाश, अशोक चक्रधर, मनोहर पुरी, सूर्यबाला, तरसेम गुजराल, यज्ञ शर्मा, नरेंद्र कोहली, उषा राजे सक्सेना, अनिल जोशी, गिरीश पंकज, ज्ञान चतुर्वेदी, महेश दर्पण, अजय अनुरागी, प्रताप सहगल, हरि शंकर आदेश, अविनाश वाचस्पति, राधेश्याम तिवारी, अजय नावरिया, वेदप्रकाश अमिताभ, लालित्य ललित[ललित मंडोरा] तथा अमित कुमार सिंह के संस्मरण तथा आलेख बहुत प्रभाव छोड़ते हैं ! सबको बधाई !
सम्पदक मंडल इस सारस्वत प्रयास के किए साधुवाद का पत्र है !

संजय भास्कर said...

लिंक शेयर करने के लिए बहुत बहुत आभार

Post a Comment