Pages

हिंदी चेतना - अंक अक्टूबर २०१४ - ''कथा आलोचना" विशेषांक



संरक्षक एवं प्रमुख सम्‍पादक श्‍याम त्रिपाठी , तथा सम्‍पादक डॉ. सुधा ओम ढींगरा के सम्‍पादन में कैनेडा से प्रकाशित त्रैमासिक साहित्यिक पत्रिका 'हिन्‍दी चेतना' का अक्टूबर-दिसम्बर 2014 अंक 'कथा आलोचना विशेषांक' है जिसके अतिथि सम्‍पादक वरिष्‍ठ साहित्‍यकार डॉ. सुशील सिद्धार्थ हैं। 'हिन्‍दी चेतना' का यह विशेषांक अब इंटरनेट पर उपलब्‍ध है। अंक में शामिल साहित्‍यकार हैं-  

1) अतिथि सम्‍पादकीय: डॉ. सुशील सिद्धार्थ। 
2) प्रस्थान: डॉ. विजय बहादुर सिंह। 
3) आलोचना का अंतरंग:  असग़र वजाहत, अर्चना वर्मा, राजी सेठ, श्रीराम त्रिपाठी, डॉ. रोहिणी अग्रवाल, निरंजन देव शर्मा, उमेश चौहान, बलवन्त कौर, विभास वर्मा, डॉ. प्रज्ञा, रमेश उपाध्याय, रजनी गुप्त। 
4) दलित कथालोचना : अनीता भारती। 
5) व्यंग्य कथालोचना : सुभाष चंदर। 
6) अपना पक्ष : आकांक्षा पारे काशिव, विजय गौड़, विमलचंद्र पाण्डेय। 
7) पाठकीय नज़रिया : वंदना गुप्ता। 
8) प्रवासी कथालोचना : विजय शर्मा, सीमा शर्मा, साधना अग्रवाल, स्वाति तिवारी, डॉ. रेनू यादव, पूजा प्रजापति, आरती रानी प्रजापति। 
9) आलोचना से पहले : विश्वनाथ प्रसाद तिवारी, पुष्पपाल सिंह। 
10) सोदाहरण : डॉ. विजय बहादुर सिंह, अविनाश मिश्र। 
साथ में सम्‍पादकीय, साहित्यिक समाचार, चित्रमय झलकियाँ, चित्र काव्यशाला, विलोम चित्र काव्यशाला, तथा आख़िरी पन्ना।

हिंदी चेतना के इस अंक को पढने के लिए यहाँ क्लिक करें.
पत्रिका को आन लाइन पढने के लिए यहाँ क्लिक करें.


आपकी प्रतिक्रिया हमें प्रेरणा प्रदान करती है। कृपया निःसंकोच हमें अपने विचारों से अवगत कराएं।

दीपावली की बहुत बहुत शुभकामनाएं
हिन्दी चेतना टीम

2 टिप्पणियाँ:

Ravindra said...

I am a new writer and poet! but village se hu esliye apani poem and story ko apane tak hi rakh saka hu!Mai apake patrika ko help kar sakata hu! Please Help!! add-[Vill.-Ramnagar Dumaree/Derawa, (Barahalganj),Dist-Gorakhpur U.P. pin nu.-273402, Whatsapp nu.-+919559945387]

Jiten Patel said...

दैनिक हिंदी समाचार

Post a Comment