Pages

हिंदी चेतना - अंक जनवरी २०११



हिंदी चेतना - अंक जनवरी २०११ (कृपया इस लिंक पर क्लिक कर के पत्रिका डाउनलोड करें)

मित्रो / सम्मानीय
उत्तरी अमेरिका की त्रैमासिक पत्रिका 'हिन्दी चेतना' का ताज़ा अंक
प्रकाशन के लिए भेज दिया गया है |
इस अंक में आप पढ़ेंगें-----
  • कहानियाँ --किशोर चौधरी, डॉ. अनिल प्रभा कुमार, बलराम अग्रवाल |
  • लघुकथाएं --दीपक मशाल, संजय कुमार, शशि पाधा, प्रेम नारायण गुप्ता |
  • व्यंग्य --अविनाश वाचस्पति |
  • उपन्यास अंश --राजीव रंजन प्रसाद |
  • आलेख -मधु अरोड़ा |
  • ग़ज़लें -- प्राण शर्मा, देवी नागरानी, अमर ज्योति 'नदीम', नीरज गोस्वामी |
  • दोहे - पूर्णिमा वर्मन
  • कविताएँ -- आस्था नवल, अमित कुमार सिंह, गुलाम मुर्तजा शरीफ़, सुनील गज्जानी, आकांक्षा यादव, रमेश मित्तल, पंकज त्रिवेदी, रेखा मैत्र, भगवत शरण श्रीवास्तव, हरिहर झा |
  • पुस्तक समीक्षा - -ईस्ट इंडिया कम्पनी, सेरीना, अलवर की राजकुमारियां |
  • अधेड़ उम्र में थामी कलम --मालती सत्संगी |
  • आख़िरी पन्ना - सुधा ओम ढींगरा
  • साहित्यिक समाचार

आपकी प्रतिक्रियाएं हमें प्रेरणा प्रदान करती हैं अतः निःसंकोच हो मन की बात लिखें.

5 टिप्पणियाँ:

सुरेन्द्र "मुल्हिद" said...

patrikaa download kar lee hai....
aaraam se padhoonga ab baith ke..

Akshita (Pakhi) said...

yah to bahu achhi patrika hai...

निर्मला कपिला said...

सुधा जी आपको इस अम्क के लिये बहुत बहुत बधाई। पत्रिका मिल गयी है पढ रही हूँ। आपकी पूरी टीम इस पत्रिका के लिये बधाई की पात्र है।
आपको गणतंत्र दिवस की हार्दिक शुभकामनायें।

Suman said...

nice

सुनील गज्जाणी said...

आदरणीया सुधा मेम !
नमस्कार
आप ने मुझे इस पत्रिका में स्थान प्रदान किया , आभार , भविष्य में भी आप से इस प्रकार आशीर्वाद चाहुगा , बस अब '' हिंदी चेतना '' की प्रतीक्षा है की कब अपने हाथो पा खुसी मनाऊ ,
सुंदर अंक के लिए बधाई .
सादर

Post a Comment